online casino india

ईद वाले ईद करें और दीद वाले दीद करें

अपनी ख़ुशियाँ भूल जा सब का दर्द ख़रीद
‘सैफ़ी’ तब जा कर कहीं तेरी होगी ईद

शैख़-ए-तरीक़त हज़रत सय्यद अ’ल्लामा मोहम्मद अ’ली शाह मयकश रहमतुल्लाह अलै’ह-सवानेह और किरदार

हुल्या देखो तो ठेठ अकबराबादी और दिल टटोलो तो मक्की मदनी-ओ-बग़दादी-ओ-अजमेरी। मयकश साहिब शाइ’री में इस क़द्र सही मज़ाक़ और लतीफ़ तबीअ’त रखते हैं कि बस उसके आगे ख़ुदा का ही नाम है।
-हामिद हसन क़ादरी 

हज़रत शैख़ बू-अ’ली शाह क़लंदर

नाम-ओ-नसबः- नाम शैख़ शर्फ़ुद्दीन और लक़ब बू-अ’ली क़लंदर था।इमाम-ए-आ’ज़म अबू हनीफ़ा की औलाद से थे।सिलसिला-ए-नसब ये है।शैख़ शर्फ़ुद्दीन बू-अ’ली क़लंदर बिन सालार फ़ख़्रुद्दीन बिन सालार हसन बिन सालार अ’ज़ीज़ अबू बक्र ग़ाज़ी बिन फ़ारस बिन अ’ब्दुर्रहीम बिन मोहम्मद बिन वानिक बिन इमाम-ए-आ’ज़म अबू हनीफ़ा। इनके वालिद सन 600 हिज्री में इ’राक़ से हिंदुस्तान आए।वो बड़े… continue reading

Modern Tales Of Mulla Naseeruddin-11

Every morning she went out to ‘meet’ the Mevlana. Read Coleman Barks’ translation of Mevlana’s works and Brad Gooch’s account of Rumi’s life for hours while sitting on the floor. I did the same for almost six hours the previous day there, so I could feel the way she had felt.

हज़रत शैख़ फ़ख़्रुद्दीन इ’राक़ी रहमतुल्लाह अ’लैह

नाम-ओ-नसबः- पूरा नाम शैख़ फ़ख़्रुद्दीन इब्राहीम है।तारीख़-ए-गुज़ीदा में सिलसिला-ए-नसब ये है।फ़ख़्रुद्दीन इब्राहीम बिन बज़रचमहर बिन अ’ब्दुल ग़फ़्फ़ार अल-जवालक़ी।मगर तज़्किरा-ए-दौलत शाह,मिर्अतुल-ख़याल,सीरतुल-आ’रिफ़ीन,मख़्ज़नुल-ग़राएब और ब्रिटिश म्यूज़ियम के फ़ारसी मख़्तूतात की फ़िहरिस्त में उनके वालिद-ए-बुज़ुर्गवार का इस्म-ए-गिरामी शहरयार मरक़ूम है।सियरुल आ’रिफ़ीन के मुअल्लिफ़ का बयान है कि- “शैख फ़ख़्रुद्दीन मोहम्मद शहरयार बहाउद्दीन ज़करिया की बहन के बेटे या’नी भाँजे… continue reading

अयोध्या की राबिया-ए-ज़मन – हज़रत सय्यदा बड़ी बुआ

हिन्दुस्तान यूँ तो हमेशा सूफ़ियों और दरवेशों का अ’ज़ीम मरकज़ रहा है।इन हज़रात-ए-बा-सफ़ा ने यहाँ रहने वालों को हमेशा अपने फ़ुयूज़-ओ-बरकात से नवाज़ा है और ता-क़यामत नवाज़ते रहेंगें। इन्हीं बा-सफ़ा सूफ़ियों में हज़रत बीबी क़ताना उ’र्फ़ बड़ी बुआ साहिबा रहमतुल्लाहि अ’लैहा का नाम सर-ए-फ़िहरिस्त आता है। आप अपने वक़्त की मशहूर आ’बिदा, ज़ाहिदा ख़ातून थीं।आपको… continue reading