online casino india

सुल्तान सख़ी सरवर लखदाता-मोहम्मदुद्दीन फ़ौक़

आबा-ओ-अज्दाद पौने सात सौ साल का ज़िक्र है कि एक बुज़ुर्ग ज़ैनुल-आ’बिदीन नाम रौज़ा-ए-रसूल-ए-पाक के मुजाविरों में थे।इसी हाल में वहाँ उनको बरसों गुज़र गए।रसूल-ए-करीम की मोहब्बत से सरशार और रौज़ा-ए-अक़्दस की ख़िदमात में मस्त थे कि ख़ुद आँ-हज़रत सलल्ल्लाहु अ’लैहि व-सलल्लम ने एक रात ख़्वाब में फ़रमाया कि उठ और हिन्दुस्तान की सैर कर।आप… continue reading

Khwaja Muinuddin’s Seven Illuminating Letters To his Spiritual Successor

A veritable mine of “Game of Wisdom” In this Blog, we reproduce seven of the most illuminating and thought-provoking letters on the cult of Sufism which Hazrat Khwaja Muinuddin Chishti affectionately wrote from Ajmer to his Khalifa (spiritual successor) Khawaja Qutubuddin Bakhtiyar kaki (may peace of God be upon his soul) who was the accredited… continue reading

Dara Shukoh and Baba Laal Bairaagi.(दारा शुकोह और बाबा लाल बैरागी की वार्ता )

रोज़ ए अजल से इस जहान ए फ़ानी के अर्श पर गर्दिश करती आत्मा की यह पतंग उस दिन फिर वक़्त की आँधी मे टूट कर ज़मीन पर आ गिरी। इस पतंग ने उन खुदा के बंदों को देखा है जिन्होने इसे इश्क़ की डोर से बांध कर कन्नी दी और पतंग को दोबारा अर्श… continue reading

Ishqbaazi (इश्क़बाज़ी)

रोज़ ए अज़ल से यह कहानी चलती आ रही है । खुदा ने जब ये क़ाएनात बनाई तो साथ ही साथ आत्मा की पतंग भी इश्क़ की डोर से बांध कर उड़ा दी । पतंग जब आसमान में पहुंची तो उसे ऐसा लगने लगा कि ये डोर उसे बांध रही है । उसकी अंतरात्मा ने… continue reading

Bhakti Movement and Sulh e Kul ( भक्ति आंदोलन और सुल्ह ए कुल )

भक्ति आंदोलन हिंदुस्तानी संस्कृति के सामान ही विविधताओं का पिटारा है। हिन्दू और मुसलमान भक्त कवियों ने जहाँ जात पात और मज़हब से परे मानवता और प्रेम को अपनाया वहीं सूफ़ियों से उनका प्रेम तत्व भी ग्राह्य किया। भक्ति आंदोलन की शुरुआत तो आठवी शताब्दी में ही अलवार संतों द्वारा हो गयी थी परन्तु कबीर… continue reading

Story of an interview between Hazrat Waris Pak and Sir Syed Ahmed.

An interesting story is told of an interview between Hazrat Waris Pak and the late Sir Syed Ahmed. Haji Saheb happened to visit Aligarh. Sir syed on hearing his visit, sent a message to him requesting for a private interview , and he was asked to come in the evening. Sir Syed arrived late in… continue reading